Friday, December 3, 2010

Emotional Blackmail

बुढा हो गया हूँ मरने से पहले बहु नसीब होगी या नहीं ?

> अपने मरने से पहले दुसरे के मरने का इंतजाम | hihihihi

> अभी आपको बहु चाहिए, साल के बाद इसी मरने के तर्क पर आप एक पोता भी मांगेंगे |

यही समाज का रिवाज है

> समाज का रिवाज़ तो सती प्रथा भी थी , जो इस वक़्त हम गलत समझते हैं |

परिवार कि अवहेलना कर रहे हो

>अवहेलना तब होती जब मैं इस लायक ही होता कि मैं किसी लड़की कि जिम्मेदारी ले सकू |

माँ बाप बच्चों के लिए कितना कष्ट उठाते हैं

> कष्ट हमने भी उठाये हैं | ये जानते हुए भी के पढाई लिखाई समय कि बर्बादी है हम लगे रहे हैं दिन रात | वरना नहीं पढना किसे अच्छा नहीं लगता | देखिये उन लडको को जो आवारा निकल गए, उनके माँ बाप उनकी शादी के लिए चिंतित हैं लेकिन लड़के पर दबाव नहीं | गैर जिम्मेदार होने का इनाम पा रहे हैं वो लड़के |

अगर हमारे बलिदान देने से आपका कोई हित होता है तो किसी भी परीक्षा से गुजरने को तैयार हैं | आप हमें खुश देखना चाहते हैं, वो हम हैं | आपकी ये जिद इशारा कर रही है आपके किसी और मकसद का | समाज द्वारा आपको दी गयी "कथित" जिम्मेदारी के निर्वाह का | जो कि हमारे समझ के बाहर है |

4 comments:

rohit said...

quest ye poochana tha ki meri pasand ki ladaki to dhoondhate nahi bas faltu kaa haauaa bana rakha hai!!

vinit said...

to bolenge apni pasand batao
thts d only Q am confused about :P

Messi said...

apni pasand to maharaj batayega apne gharwalon ko :P

vinit said...

12th pass